Full Tally in Hindi Examples step-by-step

With easy transactions

Only on www.biitcomputer.com

आइये जानें टैली क्या है?

Tally एक Accounting Software होता है. जिसके अंतर्गत Business के सभी  Records को दर्ज करना होता है. चाहे हमारा Business सरकारी हो या Private हो Tally का अर्थ है सभी प्रकार के लेन देनों को और उनके रूपये को व्यवस्थित तरिके से Record करना समान्य तौर से Tally Software के अंतर्गत विभिन्न प्रकार के कार्य होते है

जैसे :-

 i) एक नयी कम्पनी बनाना.

ii) विभिन्न भाउचर Entry करना.

iii) Ledger पर कार्य करना.

iv) Inventory पर कार्य करना.

v) सभी प्रकार के Tax की Entry करना.

vi) किसी माल (Goods) को Purchase करना.

vii) किसी माल को थोक या Retail को Purchase करना.

viii) Discount लगाना.

ix) Manufacturing Unit.

x) Balance Sit देखना.

xi) G.S.T लगाना आदि.

                         Tally एक Accounting Software है. जिसे India में ही Tally Solution. Pvt., Ltd. द्वारा सभी 4.5,5.5,6.3,7.2,8.1,9.0 और इसका न्यूनतम संस्करण Tally ERP9 है.

टैली सॉफ्टवेर को अपने कंप्यूटर में Install करने के लिए आपको टैली के Official Website पर जाकर Full Version में या Trail Version में Download कर सकते है.

कम्पनी क्या होता है :- कम्पनी एक सरकारी या गैर सरकारी संगठन हो सकता है. कम्पनी शब्द की उत्पति लैटिन भाषा की Companies से हुई है. लैटिन के कम शब्द का अर्थ है. साथ-साथ और पेनिस शब्द का अर्थ है रोटी. अतः कम्पनी का आशय ऐसे व्यक्ति के समूह से था जो भोजन के लिए इकठा करते है. इसी प्रकार कम्पनी शब्द की उत्पति होती है.

कम्पनी उस संगठन या संस्था को कहा जाता है. जहाँ से एक से अधिक संख्या में लोग आपस में मिलकर किसी उत्पादन को प्रस्तुत करते है.

Tally में कम्पनी बनाने की विधि

Tally में किसी भी प्रकार के कार्य के लिए एक कंपनी का होना जरूरी होता है जिस प्रकार एक प्रोग्राम में कार्य करने के लिए फाइल का होना जरुरी होता है.

अगर हम पहली बार Tally Software को अगर हम अपने System में Install कर रहे है. तो यह कार्य पूरा होने के तत पश्चात हमें Create Company Option मिल जाता है. जहाँ से हम कम्पनी बना सकते है. जो इस प्रकार नजर आता है.

अगर पहले से कम्पनी पर कार्य किया जा रहा है. तो हम नयी कम्पनी बनाने के लिए Alt+F3 Function key का इस्तेमाल करते है. जिससे कम्पनी बनाने की एक विंडो Blank Field में इस प्रकार नजर आती है.

Directory:, Name:, Primary Mailing Details Security Control, Mailing Name:, Address:, Country:, State:, Pin Code:, Contact Details, Phone No:, Mobile:, Fax No:, Email:, Website:, Base Currency Information. Book And Financial Year Details, Security Control.

Directory :- कम्पनी बनाने की इस Field में पहले से एक Path दिखाई जाती है.

जैसे :- c:\Users\Public\Tally ERP9\Data.

                              जहाँ इस Path के अनुसार हमारी कम्पनी उसी Directory के अनुसार Save होती है. हम चाहे तो इस Path की Directory बदल कर कोई नया स्थान दिखा सकते है. और उसके अन्दर अपनी कम्पनी को Save कर सकते है.

Name :- Tally के इस Field में नयी कम्पनी के लिए एक नया नाम निर्धारित कर सकते है. कम्पनी के किसी भी नाम के बाद Partners And Brothers, P.V.T, L.T.D, International Company, Infrastructure Structure, Factory आदि शब्दों का इस्तेमाल करना चाहिए छोटे लेबल के नाम जैसे:- Store, Retail, Agency, Show Room आदि नाम भी हो सकते है.

Mailing Name :- इस Field के अन्तरगत एक कम्पनी की अद्वतीय या दूसरा नाम निर्धारित किया जाता है. यह नाम किसी रसिद या किसी विशेष प्रमाण पत्र के उपर दिखाई देता है.

Address :- इस Field में हम कम्पनी के Local Address Type करते है.

Country :- इस Field में by default India रहता है. तो हम चाहे तो इसे भी बदल सकते है.

State :- इस Field में राज्य का नाम चुनाव किया जाता है. इस प्रकार कम्पनी के अन्य जानकारी जैसे:- Pin Code, Phone No, Mobile No, Fax No, Email, Website.

Base Currency Information :- इस के अंतरगत जब हम Country  का चुनाव करते है. तो उस Country से सम्बन्धित Currency Information शक्त ही Add हो जाते है.

Book And Financial Year Details :- इस Field में Financial Year की शुरुआत और Layer की शुरुआत का दिनांक निर्धारित किया जाता है. 

error: Content is protected !!
Scroll to Top