Adobe Page Maker 7.0 in simple Hindi language

  

अमेरिका की मशहुर कम्पनी एल्डस कापोरेशन के पेसिडेंट पॉल ब्रेनर्स ने सबसे पहले “डेस्कटॉप प्रकाशन” शब्द का प्रयोग किया था. उन्होंने मेकिन्तोष कंप्यूटर के लिए सन 1985 में पहली बार पेजमेकर जारी किया तथा बाद में पर्सनल कम्पूटरों के लिए इसका संस्करण  सन 1987 में जारी किया गया. तब से पेजमेकर को डेस्कटॉप प्रकाशन के छेत्र में सबसे बड़ा प्रोग्राम कहा जाने लगा. वर्तमान समय में यह सबसे अधिक उपयोग किया जाने वाला प्रोग्राम है. अब तक इसके कई कई संकरण बाजार में आ चुके है. उनमे से पेजमेकर 5 सबसे अधिक प्रचलन में रहा. आजकल पेजमेकर 6.5 का उपयोग अधिकतर कम्पूटरों पर किया जा रहा है.

पेजमेकर छोटे प्रकाशनों जैसे – पुस्तक, न्यूजलेटरो, और पत्रिकाओं के लिए सबसे अधिक उपयोगी है. आज-कल इसका ज्यादातर उपयोग लेटर पैड, शादी कार्ड, पोस्टर, पम्पलेट इत्यादि के छपाई कार्य के लिए किया जा रहा है.  

पेजमेकर के एक ही फ़ाइल में फोटो, आर्ट, कार्टून, ग्राफ, नक्शे, पाठ्य तथा अन्य सभी प्रकार की सूचनाओ को रखा जाता है. इसीलिए किसी प्रकाशन को एक स्थान से दुसरे स्थान पर ले जाने के लिए हमे किसी अन्य फ़ाइल की आवश्यकता नही पडती | सिफ एक मुख्य फ़ाइल जिनका विस्तारित नाम .pmd या .p65 होता है | मै समस्त समाग्री आ जाती है | जिसके एक फ़ाइल में 999 पेजों को ओर अधिक जोड़ा जा सकता है तथा हर पेज पर अलग – अलग पब्लिकेशन तैयार कर सकते है |

  • पेजमेकर प्रारभ करना :- Start>>All program>>Accessories>>Adobe>>Adobe PageMaker 7.0↵

पेजमेकर  प्रारंभ होने के बाद हमारा विंडो कुछ इस प्रकार दिखाई देता है.

पब्लिकेशन प्रारभ करना :-

पेजमेकर प्रोग्राम में नया पब्लिकेशन प्रारंभ करने के लिए सबसे पहले पेज सेट करना जरूरी होता है. क्योंकि सामान्य तौर पर जब भी हमें किसी पेज पर पाठ्य आदि लिखना होता है तो हमे निम्नलिखित बातो पर ध्यान रखना पड़ता है जैसे – पेज का आकर, हाशिया, पेजों की सख्या आदि.

File Menu>>New (^N)

Page Size :-  इसके ड्राप – डाउन लिस्ट बॉक्स से उचित पेज साईज का चुनाव किया जाता है.

Dimensions :- इसमें हमारे द्वारा चुने गये आकर के पेज की वास्तविक चौड़ाई तथा ऊचाई दी जाती है. ये आयाम समान्यतया इंचो में दिखाए जाते है, हम अपनी इच्छानुसार कोई अन्य आकर तय करने के लिए इसमें पेज आयाम भर सकते है.

Orientation :- सामान्यतया दस्तावेज के पेजों का ओरीयनटेशन “Tall” होता है, जिसे पोट्रेट भी कहते है. इसमें चौड़ाई कम ओर ऊचाई अधिक होती है.

Options :-  इस भाग में चार विकल्प होते है जहा से आप पेजों के लिए डबल साईज, फेसिंग पेज और रि-स्टार्ट पेज नम्बरिंग.

Number of pages :- हमारे एक फ़ाइल में जितने पेजों की आवश्यकता होती है उतनी पेजों की संख्या डालते है.

Restart page numbring :- प्राप्त किये गये पेजों में से जिस नबर से पेज स्टार्ट करनी होती है वह पेज संख्या डालते है.

Margins :- इसमें चार विकल्प होते है इनसाईड, आउट साइड, टॉप, बटन. इन चरों विकल्पों में हाशिया इंचों में निधारित किया जाता है.

Target output resolution :- यहाँ से हम आउटपूट के लिए रिजोल्यूशन (सघनता) का निर्धारण कर सकते है. इसके ड्राप-डाउन लिस्ट बाक्स से 72 डीपीआई से लेकर 4800 डीपीआई तक के ऑप्शन मिलेगे. यदि हम इक्जेट प्रिंटर के द्वारा या डॉट मैट्रिक्स प्रिंटर के द्वारा तेजी से प्रिंट करना चाहते है तो इस विकल्प से 72 डीपीआई विकल्प को चुनते है, यदि लेजर प्रिंटर के द्वारा  छपाई करनी है तो इस प्रिंटर के छमता के अनुसार 300 डीपीआइ से लेकर 1200 डीपीआई विकल्प को चुनते है, इमेजसेंटर के दुरा फिल्म के उपर सेट करना चाहते है तो हम 2400 डीपीआई से लेकर 4800 डीपीआई तक का चुनाव इस कार्य के लिए कर सकते है.

Compose to printer :- इसमें हमारे विंडोज के अंतर्गत स्थापित किये गए प्रिंटरो के आप्शन होते है. हम जिसे चाहे उसे चुन कर छपाई का कार्य कर सकते है.

तथा सभी सेटिग के बाद ओके रेडियो बटन पर क्लिक करते है जिसका एक विंडो निर्धारित किये गए खाली पेज में दिखाई देगा.

टूलबॉक्स का परिचय : – टूलबॉक्स सामान्यत: किसी चित्रकार या कलाकार के समान औजार बॉक्स का कार्य करता है. टूलबाक्स पैलेट पेजमेकर की विंडो में स्वत: ही दिखाई देता है. यदि यह दिखाई नही दे रहा हो तो Windows मेनू में Show Tools से आदेश देकर खोला जा सकता है.

(Pointer Tool ) :-  किसी पृष्ठ पर लगी हुई किसी प्रकार की वस्तु जैसे पाठ्य, लाईन, बॉक्स, चित्र, वृत, आदि को चुनने से पहले इस टूल को चुना जाता है.

 (Text Tool ) :- इस टूल की सहायता से अपनी प्रकाशन में पाठ्य (टेक्स्ट) लिखने का कार्य करते है.

 ( Rotating Tool ) :-  किसी चुनी हुई वस्तु को 0.01 के से 360 अंश तक घुमाने के लिए किया जाता है.

  ( Cropping Tool ) :- इस टूल के द्वारा हम किसी चित्र या फोटो के छेत्र को छोटा कर सकते है.

( Line Tool ) :- इस टूल के द्वारा किसी भी अंश पर झुकी हुई सरल रेखाएं खींचने के लिए किया जाता है.

   ( Constrained Line Tool ) :- इस टूल का प्रयोग से उर्ध्वाकार और छैतिज रेखा खींचने के लिये किया जाता है.

( Rectangle Tool ) :- इस टूल का प्रयोग आयताकार तथा उर्ध्वाकार आकृतियाँ बनाने के लिए किया जाता है.

 ( Rectangle Frame Tool ) :- इस टूल के प्रयोग ऐसे आयताकार चौखोटे बनाने के लिए किया जाता है, जिसमें हम पाठ्य टाईप तथा चित्र आदि भी डाल सकते है.

 ( Ellipse Tool ) :- इस टूल का प्रयोग ओवल आकृतियाँ बनाने के लिए किया जाता है.

 ( Ellipse Frame Tool ) :-  इस टूल के प्रयोग ऐसे दीर्घ वृताकार तथा वृताकार आकृतियाँ बनाने के लिए किया जाता है, जिसमें हम पाठ्य टाईप तथा चित्र आदि भी डाल सके.

 ( Polygon Tool ) :- :-  इस टूल का प्रयोग से बहुभुजाकर आकृतियाँ बनाने के लिए क्या जाता है.

( Polygon Frame Tool ) :-  :-  इस टूल का प्रयोग ऐसे बहुभुजाकर घेरे बनाने के लिए किया जाता है जिसमें हम पाठ्य टाईप तथा चित्र आदि भी डाल सके.

(Hand Tool) :- इस टूल के प्रयोग से प्रकाशन के किसी पृष्ठ स्वतंत्र दिशा में मूव करने के किये किया जाता है.

( Zoom Tool ) :- इस टूल के प्रयोग से प्रकाशन के किसी पृष्ठ बड़ा या छोटा कर के देखने के लिए किया जाता है.

कंट्रोल पैलेट परिचय :- जैसा की नाम से ही स्पस्ट है, यह पैलेट किसी वस्तु को नियंत्रित करने अथार्त मनचाहे रूप और आकर में बदलने और सुधारने की सुविधा प्रदान करता है. यह दो प्रकार के होते है.

                                      यह किसी टेक्स्ट के लिए कंट्रोल पैलेट होता है.       

                                     यह की ऑब्जेक्ट या आकृति के लिए कंट्रोल पैलेट होता है.

पेजमेकर को मनमाफिक बनाना :- पेजमेकर में बहुत बड़ा कार्य करने से पहले उसे अपनी सुविधा के अनुसार कस्टमाइज भी कर सकते है. ऐसा करने से पेजमेकर हमारे साथ वैसा ही व्यहार करेगा जैसा हम अपेछा करते है.

File >> Preferences >> General ^K ↵

 

Measurements in :- यहाँ से हम ऊपर के रूलर के लिए इकाई का चुनाव करते है. पेजमेकर इंच, डेसिमल, मिलीमीटर, पाइका, साइरस जैसी इकाईयो को सपोर्ट करता है. हम जिस पेज की लम्बाई – चौड़ाई जिस इकाई में नापना चाहे उसका चुनाव हम यहाँ से कर सकते है.

Vertical ruler :- यहाँ से हम पेजमेकर की मुख्य विंडो स्क्रीन पर दिखाई दे रहे बाएँ रूलर के इकाई को सेट करते है.

Layout problems :- इस विकल्प के तहत यह सेट करना है की क्या पेजमेकर हमको टाईट ओर लूज लाइनों को दर्शाए और यदि पेजमेकर के अंतर्गत लिखा हुआ टेक्स्ट किसी तरह अपनी सीमा रेखा उलंघन करता है तो वह भी हमको नजर आए, यदि इस तरह की चेतावनियाँ सामने चाहते है तो इसमें दिए हुए “शो लूज एण्ड टाईटस लाईन” और “स्ट्रोक्स कीप्स वाइलेशन” आप्शनो में से जिसे चाहे उसे सक्रिय कर सकते है.

Graphics display :- इस भाग में तीन विकल्प होते है, जिनके द्वारा ग्राफिक फ़ाइल के अलावा डिस्प्ले को तय करते है.

Gray out :- इस विकल्प को चुनने पर इमेज फ़ाइल एक चौकोर बॉक्स के रूप में दिखाई देता है और फाइल का वजन हल्का हो जाता है. 

Standard :-  इस विकल्प को चुनने पर इमेज फ़ाइल का सामान्य रूप दिखाई देगा जो हो सकता है बहुत धुंधला हो ओर फोटो स्पष्ट रूप से दिखाई न दे. लेकिन इससे फाइल का वजन हल्का रहता है.

High resolution :- इस विकल्प को सेट करने से इमेज का सघनता बढ़ जाता है और इमेज स्पस्ट दिखाई देने लगता है जिसके वजह से फाइल का साइज़ बढ़ जाता है जिससे फ़ाइल देर से खुलेगी और डिस्प्ले स्क्रीन पर देर से नजर आएगा.

Control palette :- इसमें दो विकल्प होते है हॉरिजॉन्टल नज ओर वर्टीकल नज इसमें किसी भी आर्ब्जेकट होते है | सबसे पहले इसमें यह तय करना होता है की टेक्स्ट के निचे कितने जगह खाली रहे ओर फिर दूसरी पंक्ति प्रारभ हो टू टाईप फोट डिस्प्ले करने के लिए हम यहाँ से प्रजव लाईन स्पेसिंग ओर प्रजव करेक्टर जैसे विकल्प को सक्रिय ओर निष्क्रिय क्र सकते है | स्टोरी एडिटर इस भाग में हम डीफार्ल्ट फोट ओर उसका साईज तय क्र सकते है | यदि हम चाहते है की टाइपिंग के समय हमेशा डीफार्ल्ट सेटिंग के अनुरूप टाइम्स न्यू रोमन फोट तथा इससे संबंधित साईज आदि में परिवतन कर सकते है|

Graphics :- इस भाग में हम ग्राफिस्क को स्क्रिन पर देखने के लिए कर सकते है| ओर कुछ विकल्प सेट किये जाते है साईज में ग्राफिक के लिए डिस्प्ले साईज किलो बाईट में सेट किया जाता है | रिजोल्यूशन भाग में ग्राफिक के लिए सघनता सेट किया जाता है | एलट व्हेन ग्राफिस्क ओवर इस भाग में 256 के0बी0 लिखा रहता है | इस प्रकार यदि जिस मात्रा में फ़ाइल इन्पोट लानी हो तो उसकी मात्रा डाल सकते है |

File >> Preferences >> Online↵

 इसका प्रयोग हम इंटरनेट के संदभ में प्राथमिकताए सेट करने के लिए क्र सकते है | हाइपर लिंक से संबंधिक विकल्प सेट रहता है प्राक्सी विंडो में सवर की जानकारी टाईप करते है | इंटरनेट पर जाने के लिए जिस वेब ब्राउजर को प्रयोग करना है उसका नाम यहाँ टाईप करते है |

 File >> Preferences >> Layout Adjustment↵

स्नैप टू जोन में कोई आर्ब्जेक्ट गाइड लाइड के कितनी दुरी से चिकना प्रारंभ करे हम यहाँ से सेट क्र सकते है | इसमें पेज एलिमेनट करने से संबंधित विकल्प है जिसे माउस से सेट क्र सकते है तथा लेयर रुलर को एडजस्ट गाइड लाईन को मूव को भी लॉक क्र सकते है | तथा इसके निचे करने के लिए दो विकल्प होते है जिनके दुरा किया जा सकता है | दुसरे भाग में कॉलम तथा माजिर्न एलिमेनट को बचा सकते है |

 File >> Preferences >> Traping↵ 

इस डायलॉग बाक्स में सबसे पहले एनेबल टेपिंग फार पबिल्केशन नामक विकल्प को सक्रिय करते है इसमें टेप की विथ निधारित क्र सकते है | काले रंग को ओवर प्रिंट ब्लैक विकल्प को सेट करते है | इंक सेटअप नामक विकल्प में प्रिंट के लिए स्याही निधारित करने के लिए किया जाता है |

पेज का आकर :- पेजमेकर में किसी भी पबिल्केशन के लिए दो प्रकार के पेजों का प्रयोग किया जाता है | मास्टर पेज तथा समान्य पेज | हम चाहे जिस प्रकार की फ़ाइल खोले उसमे दोनों प्रकार के पेज होते है | मास्टर पेज का प्रयोग में कोलियो या पेज नंबर डालने के लिए किया जाता है जिसके बायीं ओर पहले पेज से भी पहले एलo तथा आरo के रूप में दिखाई देता है | सामान्य पेज का प्रयोग टेक्स्ट आदि लिखने के लिए किया जाता है |

पेज को हटाना :-

Layout >> Remove Pages↵

इस डायलॉग बाक्स  मिटाए जाने वाले पेजों की सख्या डालते है | यह आदेश देने के बाद हमारे सामने एक पुष्ठि संदेश आता है |

यहाँ से ओके करने के बाद पेजों को हटा दिया जाता है|

फ़ाइल को पहले को पहले स्थिति में लाना :-

File >>Revert 

किसी कारणवश यदि फ़ाइल में कोई अनचाहा बदलाव हो गया और आवश्यकता यह है की फ़ाइल की पहले वाली स्थिति ठीक थी, जिसे फ़ाइल को पुराने वाली स्थित में ला सकते है, यह आदेश देने के बाद हमारे सामने एक पुष्ठि संदेश आता है |

      

यहाँ ओके करने के बाद फ़ाइल पहले स्थित में आ जाता है |

 मनचाहे पेज पर जाना :-

Layout >> Go to Page   (Alt+^G)

यदि किसी फ़ाइल में सैकड़ो सख्या में पेज है, यदि हम चाहते है की 100 नंबर की पेज पर जाए इसके लिए डायलॉग बाक्स में पेज नंबर विकल्प बाक्स में वह सख्या डालते है और OK रेडियो बटन पर क्लि ककरते हैं जिससे हम उस पेज पर चले जाते है |

शब्दों को खोजना :- इस सुविधा के द्वार फ़ाइल को खोलकर हम फ़ाइल के अन्दर लिखे हुए टेक्स्ट को खोज सकते है | सबसे पहले फ़ाइल को खोलकर कर्सर को राइटिग मोड़ पे लाकर लिखे हुए टेक्स्ट पर क्लिक करते है | इसके बाद एडिट मेनू से एडिट स्टोरी कमांड पर क्लिक करते है इसके बाद यूटीलिटीज मेन्यु से फाइंद आदेश देते है |

 Utilities >>Find (^F)

                                              

यहाँ फाइंड वाट में वह शब्द डालकर क्लिक करते है | जिससे वह शब्द खोजकर दिखा देता है |

 

स्पेलिग़ की खोज करना :- पेजमेकर हमे (वर्तनी) स्पेलिग़ की जाँच करने की सुविधा प्रदान करता है | जिस फ़ाइल में शब्दों की अशुद्धिया ठीक करनी है, सबसे पहले एडिट मेन्यु से एडिट स्टोरी आदेश देते है फिर यूटीलिटीज मेन्यु से स्पेलिग़ आदेश देते है |  Utilities >> Speling  (^L)

कॉलम पेज बनाना :- पेजमेकर में कॉलम का भी प्रयोग किया जाता है, पेजमेकर के किसी एक पेज में अधिकतर 20 कॉलम बना सकते है |

Layout >> Column Guides↵  

                                          

इस डायलाग बाक्स में दिए हुए नंबर ऑफ़ कॉलम का प्रयोग करके अपनी जरूरत के अनुसर पेजों को कॉलम में बाट सकते है, स्पेस बिटविन कॉलम में कॉलमो की बिच की दुरी निधारित किया जाता है |

 रूलर का प्रयोग करना :- पेजमेकर के तहत पेज के साथ रुलर का प्रयोग करना पूरी तरह से प्रयोगकर्ता पर निर्भर करता है | यदि फ़ाइल खोलते समय पेज के सथा रुलर नही दिखाई दे रहा हो तो इसे व्यू मेनू के द्वार “शो रुलर” आदेश दे कर खोला जा सकता है |  

टेक्स्ट के लिए फोंट निधारित करना :- पेजमेकर में किसी टेक्स्ट के लिए विंडोज में उपस्थित फोंट का प्रयोग क्र सकते है, इसके दुरा लिखावट में परिवतन कर सकते है | इसे टाईप मेन्यु के फोंट के पॉप – आप मेन्यु से उचित फोंट का चुनाव कर सकते है |

 फोंट का आकर :- पेजमेकर में प्रयोग किये गए फोंट के आकर में परिवतन कर सकते है | इसके लिए टाईप मेन्यु में साईज के पॉप-ओंप मेन्यु से उचित आकर के नंबर पर क्लिक करके आकर में परिवतन कर सकते है | अदर में यदि सुचि में वह साईज उपस्थित नही है जो आकर हम चाहते है वह सख्या हम अदर में डाल सकते है |

 शब्दों की बिच की दुरी में परिवतन करना :- पेजमेकर में किसी वर्ड के साथ आसानी से वर्ड की बिच की दुरी में परिवतन किया जा सकता है | इसे करने के लिए टाईप मेन्यु में एस्क्पर्ट ट्रेकिंग के पॉप-ओंप मेन्यु से निम्नलिखित आदेश पर क्लिक करके आदेश दिया जाता है |

 पंक्तियों की बिच की दूरी में परिवतन करना :- पेजमेक के एक से अधिक पंक्तियों की बिच की दुरी में परिवतन कर सकते है | इसे टाईप मेन्यु में लेडिंग के पॉप-ओंप से निम्नलिखित आदेश पर क्लिक करके पंक्तियों की बिच की दुरी परिवतन किया जा सकता है |

 फोंट के आकार में परिवतन करना :- पेजमेक में किसी भी टेक्स्ट के साथ आकार में परिवतन किया जा सकता है इसके लिए टाईप मेन्यु में टाईप स्टाइल के पॉप-ओंप मेन्यु से निम्नलिखित आदेश पर क्लिक करके प्रयोग किया जा सकता है |

 अछर चौडाई घटना बढना :- टेक्स्ट लिखने के लिए जिस फोंट को प्रयोग किया जा रहा है, उसके चौडाई में परिवर्तन किये बिना फोंट साईज की साइज़ बिनाबदले हुए भी किया जा सकता है | इसे टाईप मेन्यु में होरिजोंनटल स्केल के पॉप-ओंप मेन्यु से निम्नलिखित आदेश पर क्लिक करके आदेश दिया जा सकता है |

 पेजमेकर में नये पेज को जोड़ना :- पेजमेक में किसी फ़ाइल में 999 पेजों को ओर अधिक जोड़ा जा सकता है | इसे लेआउट मेन्यु से इंसर्ट पेज आदेश देकर जोड़ा जा सकता है |

इंसर्ट :- इस बाक्स में पेजों की सख्या डाला जाता है, जितने पेजों की आवश्यकता होती है |

 पेजेज :- इस ड्राप डाउन लिस्ट बाक्स दो विकल्प होते है | आफ्टर, बिफोर | जिनके दुरा जोड़े जाने वाले पेजों को करेक्ट पेज के आगे जोड़ना है या पहले |

 मास्टर पेज :- इस ड्राप डाउन लिस्ट बाक्स से मास्टर पेज का प्रयोग करना है या नही इसका चुनाव किया जाता है |

शब्दों को रिप्लेस करना :- पेजमेकर में पहले से टाइप किये गए किसी शब्द को किसी अन्य शब्दों में स्थानांतरित (रिप्लेस) किया जा सकता है| इसके लिए सबसे पहले एडिट मेनू से एडिट स्टोरी आदेश देते है फिर

Utilities>> Chage (^H)↵

फाईड हवाट :- इस आप्शन में वह शब्द डालते है जिसे हमे खोजना होता है|

चेन्ज टू :- इस आप्शन में वह शब्द डाला जाता है जिसे खोजे जाने वाले शब्द में बदलना होता है |

 कैरेक्टर एटीब्युट्स :- इस विकल्प में दोनों शब्दों के फोंट , साईज , स्टाइल आदि का निधारण करके आके रेडियो बटन पर क्लिक करते है |

 

बहरी फ़ाइल को जोड़ना :- जैसा की हम सब जानते है की पेजमेकर का सबसे ज्यादा प्रयोग किताबी कामो के लिए किया जाता है, इसलिए टेक्स्ट लिखने का काम लोग सीधे न करके किसी अन्य प्रोग्राम की मदद लेते है और इम्पोर्ट करके जोड़ देते है ओर किताब के अनुसार सेटिंग के लेते है |

 File >> Place (^D)

 

फ़ाइल नेम के विकल्प में उस फ़ाइल का नाम इंटर करते है जिनके बाद पेज पर हमारा माउस प्वाइंटर एक विशेष रूप में बदल जाता है, तथा पेज पर डैग करते है | जिससे वह फ़ाइल पेज पर आ जाता है.

ग्राफिक का प्रयोग करना :- पेजमेकर की फ़ाइल में बहरी सार्फ्टवेयरो में बने हुए ग्राफिक आब्जेक्टो को जोड़ा जा सकता है इस आप्शन मीनू से उस सार्फ्टवेयर का चुनाव किया जाता है जिसमे बनी हुई ग्राफिक फ़ाइल में प्रयोग करनी है यह आदेश क्रिएट न्यू बटन पर क्लिक करके किया जाता है| किसी भी प्रोग्राम का चुनाव करने के बाद ओके करते ही पेजमेकर से जुड़ कर वह प्रोग्राम खुल जाता है तथा उस प्रोग्राम में फ़ाइल का निर्माण कर लेने के बाद फ़ाइल मीनू से रिटन टू अनटाइटलेंट पर क्लिक करने पर वह फ़ाइल हमारे पेजमेकर फ़ाइल में जुड़ जाता है, क्रिएट फ्रॉम फ़ाइल पर क्लिक करने के बाद ब्राउज रेडियो बटन पर क्लिक किया जाता है, इसके बाद उचित फ़ाइल का चुनाव किया जाता है इस आदेश का प्रयोग किसी प्रोग्राम की फ़ाइल को पेजमेकर प्रोग्राम में जोड़ने के लिए किया जाता है |

Edit >> Insert object (^D)  

पैराग्राफ कस्टमाइजेशन :- पेजमेकर में पैराग्राफ को आवश्यकता के अनुसार कस्टमाइज किया जा सकता है | एसा करने के लिए पैराग्राफ में कर्सर को राइटिंग मुड में लाकर क्लिक करते है या फिर उसे सलेक्ट कर लेते है | ओर आदेश देते है |

 

Type >> Paragraph 8 (^M)

 

इंडेंट आप्शन :- पैराग्राफ का यह पहला आप्शन है | इससे पैराग्राफ के लिए इंडेंट निश्चित करते है | इस काम के लिए इससे तिन विकल्प होता है | पहला – लेफ्ट , दूसरा – फस्ट , तीसरा – राइट | लेफ्ट विकल्प से पैराग्राफ पेज में बायीं ओर से कर्सर कितनी दुरी दुरी से शुरू है | फस्ट विकल्प का प्रयोग पैराग्राफ की पहली लाईन के लिए बायीं ओर से दूसरी निश्चित करने के लिए किया जाता है | राइट विकल्प का प्रयोग पेज में पैराग्राफ के लिए दायी ओर से खाली जगह छोड़ने के लिया किया जाता है | यदि पेज के दायी ओर से 1.05 इंच जगह छोडनी है तो इस आप्शन के आगे 0.05  लिख कर ओके करते है | जिसके परिणाम स्वरूप पेज में पैराग्राफ की स्थिति परिवतिर्त हो जाएगी |

 

एलाइन्मेंट आप्शन :- पैराग्राफ कमांड के इस आप्शन का प्रयोग आलेख को एलाइन करने के लिए किया जाता है | इसके ड्राप – डाउन लिस्ट बाक्स से लेफ्ट , सेंटर , राइट , जस्टिफाई , फोर जस्टिफाई विकल्पों के दुरा आलेख को पेज पर लिखा जा सकता है

 

आप्शन किकल्प :- इया आप्शन का प्रयोग पैराग्राफ की लाइनों को नियंत्रित करने के लिए किया जाता है | इसमें कुल मिलाकर सात उप-विकल्प होते है , जिनसे पैराग्राफ की पंक्तिया को आवश्यकता के अनुसार कस्टमाइज करने के लिए किया जाता है |

 

डिक्शनरी आप्शन :- इस आप्शन का प्रयोग पैराग्राफ में लिखे हुए स्पेलिग़ की जाँच वास्ते डिक्शनरी निधारित करने के लिए किया जाता है |

 

पैराग्राफ आप्शन :- इस विकल्प का प्रयोग पैराग्राफ के बिच की दुरी निश्चित करने के लिए किया जाता है | इसमें दो उप-विकल्प होते है बिफोर ओर आफ्टर जिनके दुरा पैराग्राफ के पहले ओर बाद में कितनी जगह छोडनी है | निश्चित करने के लिए किया जाता है |

 

स्पेसिंग आप्शन :- पैराग्राफ में लिखे हुए टेक्स्ट में प्रयोग किये गए अछरो ओर शब्दों इत्यादि के बिच दुरी निश्चित करते है | इस मीनू पैराग्राफ के तहत किसी भी प्रकार की दुरी निश्चित क्र सकते है |

 

रूल्स आप्शन :- इस आप्शन का प्रयोग टेक्स्ट के निचे या ऊपर लाइन के प्रयोग के लिए करते है | इसका प्रयोग किसी लिखे हुए टेक्स्ट को स्लेक्ट कर लेने के बाद इसका प्रयोग किया जाता है | उपर दिए हुए रुलर आप्शन मीनू से टेक्स्ट के उपर या निचे लाइनों के प्रयोग को निश्चित करते है | यदि लाइन सिर्फ टेक्स्ट की चोड़ाई के बराबर रखनी है तो इसका निधारण भी इस मीनू की दुरा किया जाता है | यदि लाइन किसी विशेष प्रकार की रखनी है तो इसे निश्चित करने के लिए ऊपर दिए हुए मीनू में लाइन आप्शन में माउश से क्लिक करते है | जिसके परिणामस्वरूप यह मीनू खुलकर आ जाता है | कस्टम आप्शन का प्रयोग लाइन की मोटाई अपनी आवश्यकता के निधारित करने के लिए किया जाता है |

 

Option :-  इस रेडियो बटन पर क्लिक करने के बाद यह डायलाग बाक्स आता है | इस सुविधा के तहत टेक्स्ट के ऊपर खिचे जाने वाली लाइनों की मध्य की दुरी निश्चित करने के लिए किया जाता है |

 

टाप :- इसमें लाइन पैराग्राफ से ऊपर की ओर कितनी दुरी रहे इसका निधारण यहां से करते है |

 

बटन :- इसमें लाइन पैराग्राफ से निचे की ओर कितनी दुरी रहे इसका निधारण

यहां से करते है |

 

Type >> Hyphenation 8

इस आदेश के प्रयोग से टेक्स्ट में हाइफन लगाने के लिए किया जाता है | टेक्स्ट में हाइफन का प्रयोग करना है या नही , इसका चुनाव यहाँ से कर सकते है |

 

टेक्स्ट या आब्जेक्ट की प्रतिलिपि तैयार करना :- पेजमेकर में किसी टेक्स्ट या आब्जेक्ट की प्रतिलिपि तैयार किया जा सकता है | इसे करने के लिए सबसे पहले टेक्स्ट या आब्जेकट को स्लेव कर लेने के बाद इस आदेश का प्रयोग किया जाता है |

Edit >> Paste Mutltiple 8

पेस्ट क्लिप बोर्ड में कॉपी आजेक्ट को कितना बार पेस्ट करना है , इसमें वह सख्या डाल दिया जाता है |

 

होरीजोंटल आफेट :- होरीजोंटल आफेट में सामानातर पेस्टिंग के लिए इंचो में संख्या डाला जाता है |

भरीटक्ल आफसेट :- भरीटक्ल आफसेट में उध्वाकार पेंटिग के लिए इंचो में डाला जाता है |

टैब निधारित करना :- पेजमेकर में टैब लगाने की सुविधा बहुत सरल है | जिस पैराग्राफ में टैब लगाना होता है , सबसे पहले उसे सलेक्ट के लेते है ओर आदेश देते है |

Type >>Indents/Tab (^i)

स्टाइल शीट का प्रयोग :- स्टाइल शीट का प्रयोग करके कम्पोजेंग का कार्य तेज गति से किया जा सकता है | लेकिन इसका प्रयोग करने से पहले स्टाइल शीट का निमार्ण काम की आवश्यकता के अनुसार करना पड़ता है |

Type >>Define Styles (^3)

 

स्टाइल :- इस विंडो में उन स्टाइलो की सूचि होती है जो पहले से निधारित होती है |

 

न्यू :- इस रेडियो बटन पर क्लिक करके बनाये जा रहे है नये स्टाइल को निधारित करते है | जिसका एक डायलग बाक्स खुलता है |

नेम :- बाक्स में स्टाइल का नाम निधारित करते है |

बेस्ड आन :- इस आप्शन का प्रयोग निधारित किये जा रहे है स्टाइल के लिए आधारभुत स्टाइल बनाने के लिए करते है इसका प्रयोग तभी किया जाता है जब पहले से कोई स्टाइल बना लिया गया हो |

नेक्स्ट स्टाइल :- इस आप्शन का प्रयोग निधारित किये जा रहे है स्टाइल को आधार मानकर नये स्टाइल के निमार्ण के लिए किया जाता है |

करेक्टर आन :- इस आप्शन का प्रयोग स्टाइल के लिए फोंट , आकर , ओर स्टाइल इत्यादि निधारित करने के लिए किया जाता है |

इस डायलाग बाक्स से हम टेक्स्ट पर हम करेक्टर स्पेशीफिकेशन के सभी विकल्प प्रयोग कर सकते है |

पैराग्राफ :- इस आप्शन का प्रयोग करके स्टाइल के लिए पैराग्राफ से निधारित क्रिया सपंन्न कर सकते है |

टैब :- इस आप्शन का प्रयोग स्टाइल के लिए टैब निधारित किया जाता है |

हाइफन आप्शन :- इस आप्शन का प्रयोग स्टाइल के लिए हाइफन का प्रयोग करने के लिए किया जाता है | इसमें हाइफन को ओन-ओफ किया जा सकता है |

         जब इस आप्शनो का प्रयोग करके स्टाइल बना लेते है तो सभी डायलाग बाक्सो से बाहर आकर विंडो मिन्यू से शो स्टाइल आदेश देकर खोलते है जिसमे हम देखेगे की हमारे दुरा बनाया गया स्टाइल , स्टाइल लिस्ट में जुड़ गया है | पेज पर स्टाइल का प्रयोग करने के लिए सबसे पहले कोई टेक्स्ट टाइप कर लेने के बाद उसे सलेक्ट कर लेते है तथा स्टाइल शीट से निधारित किये गए नाम पर क्लिक करते है , जिससे टाइप किया हुआ टेक्स्ट उसी स्टाइल में बदल जाता है |

टेक्स्ट रेपिंग :- इस आदेश के दुरा पेजमेकर के प्रोग्राम के तहत लिखे हुए आलेख में किसी भी स्थान वर ग्राफिक चित्र को फिट कर सकते है | ग्राफिक चित्र की चारो ओर सामान्य दुरी से टेक्स्ट निधारित किये हुए पेरामितारो के अनुसार खुद – ब – खुद हट जाता है

Element >> Text warp ( Alt^E)

फोटो के चारो ओर टेक्स्ट किस तरह से दिखाई दे, इसे तय करने के लिए इन तीन बटनों में से किसी भी एक पर अपनी जरूरत के अनुसार क्लिक कर सकते है |

पेजनम्बर डालना :- यदि दश फाइलों में एक बार क्रमबद्ध तरीके से पेज्न्म्बर डालना है तो यह काम भी पेजमेकर में किया जा सकता है |

Utilities >> Book

इसके ड्राप – डाउन लिस्ट बाक्स से ड्राइव से पेजमेकर के फ़ाइल का चुनाव किया जाता है |

इन्स्ट रेडियो बतं पर क्लिक करके बुक लिस्ट में इन्स्ट करते है |

ऑटो रिनबरिंग के लिए पेजनम्बर अपने आप पड़े इसके लिए इस विकल्पों का चुनाव किया जाता है

यदि इस सूचि में फ़ाइल गलत आ जाता है तो उसे रिमुव बटन के दुरा हटाया भी जा सकता है | यदि फाइलों का कर्म गलत हो गया हो तो इस क्रम को मूव अप तथा मूव डाउन के दुरा सही किया जा सकता है |

रंगो का प्रयोग :- पेजमेकर में आलेख में रंगो का भी प्रयोग किया जाता है | वैसे पेजमेकर में कई रंग पूर्व निधारित होते है लेकिन अगर हम स्वंय रंग बनाना चाहे तो एसा किया जा सकता है |

Utilities >> Define Colors..

कलर :- यह स्थान सलेक्ट किया हुआ रंग दिखता है |

नया रंग बनाने के लिए न्यू बटन पर क्लिक करते है | जिनका एक डायललाग बाक्स खुलता है |

नेम :- इस बाक्स के रंग के लिए नया नाम निधारित किया जाता है |

टाइप :- यहाँ से आफसेट प्रिटिंग के लिए प्रोसेस का चुनाव किया जाता है |

इसके बाद लिबरेरिज से उचित कलर का चुनाव कर लेने के बाद निचे दिए हुए स्लाइडरो को खिसका कर रंगो में होते हुए परिवतनो को देख सकते है | तथा उचित रंग का चुनाव हो जाने के बाद ओके करते है | तथा विंडो मेन्यु शो कलर आदेश देकर कलर प्लेट से निधारित किये नाम पर क्लिक करके उस कलर का प्रयोग हम अपने प्रकाशन में कर सकते है |

 

टेक्स्ट एक्सपोट करना :- पेजमेकर में टेक्स्ट एक्सपॉट करने जे लिए सबसे पहले फ़ाइल खोलते है , फिर फ़ाइल में दिए हुए एक्सपोट के पॉप –ओंप से टेक्स्ट आदेश देते है , इस क्रिया को करने से पहले टेक्स्ट को टेक्स्ट टूल कके दुरा सलेक्ट कर लेना जरूरी है | जब इसकी आप[शं विंडो हमारे सामने आये तो इसमें हुए फाइल नेम आप्शन आगे फ़ाइल नेम डाल देते है | इसके बाद ओके क्लिक करते है |

 

लाइनों का प्रयोग करना :- पेजमेकर में प्रोग्राम के अन्दर निम्न प्रकार के लाइनों का प्रयोग कर सकते है | इसके लिए सबसे पहले (Constrained Line Tool ) का प्रयोग कर लेना पड़ेगा |

 

Element >> Storke

इस आदेश के बाद इसका एक पॉप –ओंप मेन्यु खुलता है, जिसमे लाइनों से संबधित निम्नलिखित स्टाइल होते है | उचित स्टाइल पर क्लिक करके लाइन को उसके अनुसार बदला जा सकता है |

लाइन के आकार में परिवतन करना :- खिची गयी लाइन की मोटाइ में परिवतन किया जा सकता है | सबसे पहले खिची गए लाइन को सलेक्ट कर लेते है |

Element >> Storke >> Costom

स्ट्रोक स्टाइल के डोप – डाउन लिस्ट बाक्स से पहले उचित लाइन का चुनाव कर लिया जाता है, इसके बाद स्ट्रोक विड्थ में लाइनों की मोटाई प्वाइंट में डाला जाता है |

लाइन को रंगीन करना :- लाइन में रंग उसी तरह से भरते है, जिस तरह से टेक्स्ट में रंग भरते है एसा करने से पहले लाइन को सलेक्ट करते है | इसके बाद कलर बाक्स में दिए हुए किसी भी रंग पर माउस की सहयता से क्लिक करके उसे रंगीन बनाया जा सकता है |

फाइलों के साथ लिंक करना :- पेजमेकर के अंतगर्त जब हम किसी बाहरी फ़ाइल या आब्जेक्ट को इन्पोट करते है या फिर प्लेस करते है, इसे जाना है की वह फ़ाइल पेजमेकर की फ़ाइल से कितनी ओर किस प्रकार जुडी हुई है | विशेष रूप से ग्राफिक फाइलों के लिए यह आवश्यक है की वह पूरी तरह से पेजमेकर की फ़ाइल में कॉपी है |

File >> Like Manager …(Sh^D)

इसमें यह पता चलता है की कोन – सी फैले पेजमेकर इ किस पेज के साथ जुडी है | इसके लिए ओर ज्यादा जानकारी के लिए डायलाग बाक्स के Option के रेडियो बटन क्लिक करते है जिनका एक डायलाग बाक्स दिखाई देता है |

इस डायलाग बाक्स से हम Update automatically विकल्प को स्वत: ही ओंपडेट होने की सुविधा को लेंस होने देते है |

टाइप स्पेसिफिकेशन :- यह पेजमेकर का सबसे महत्वपूर्व कमांड है | इसका प्रयोग करके टेक्स्ट में फोंट से लेकर अन्य सभी प्रकार के परिवतन किये जाते है

Type >> Character

फोंट :- इस आप्शन का प्रयोग करके टेक्स्ट के लिए फोंट का चुनाव किया जाता है |

साइज :- इस आप्शन का प्रयोग करके प्रयोग किये जा रहे फोंट के आकर का चुनाव किया जाता है |

लीडिंग :- इस आप्शन का प्रयोग टेक्स्ट की पंक्तियों के बिच की दुरी को एडजस्ट करने के लिए किया जाता है |

होरिज स्केल :- इस आप्शन का प्रयोग टेक्स्ट के प्वाइंट साइज में परिवतन किये बिना उसकी चोड़ाई को बढ़ाने के लिए किया जाता है |

कलर :- इस आप्शन का प्रयोग सलेक्ट किये हुए टेक्स्ट पर पेजमेकर के अंतगर्त निधारित रंगो के प्रयोग के लिए करते है |

टाइप स्टाइल :- इस आप्शन के अंतर्गत 6 विकल्प होते है, जिन्हें माउस की सहायता से सक्रिय ओर निष्क्रिय किया जाता है |

पोजीशन :- इस आप्शन का प्रयोग करके टेक्स्ट के लिखे अछरो के लिए स्थिति का निधारण केते है | इस में डी हुई किसी भी पोजीशन का चुनाव हम अपनी कार्य की आवश्यकता के अनुसार कर सकते है |

केस आप्शन :- इस आप्शन का प्रयोग करके टेक्स्ट में प्रयोग अछरो के लिए अपर या लोअर केस का निधारण केते है | इस सूचि में किसी भी केस का चुनाव कम की ज्रिर्ट के हिसाब से किया जा सकता है |

ट्रेक आप्शन :- इस आप्शन का प्रयोग शब्दों के मध्य की दुरी को घटने या  बढ़ाने के लिए करते है | इस दुरी को समायोजित करने के लिए इस आप्शन के अंतगर्त एक सूचि होती है | इस सूचि में से किसी भी आप्शन का प्रयोग माउस के दुरा क्लिक करके किया जा सकता है | यदि शब्दों के बिच में ज्यादा दुरी रखनी हो तो इस मीनू के वेरिलुज आप्शन का प्रयोग होना ओर यह दुरी न्यूनतम मात्रा में रखनी है तो नोट्रेक आप्शन का प्रयोगकरना पड़ेगा |

आप्शन विकल्प :- इस आप्शन का प्रयोग शब्दों ओर पक्तियों के बिच की दुरी के लिए निधारित पेरामिटरो में परिवतन करने के लिए करते है | जब माउस के दुरा इस आप्शन पर क्लिक करते है तो इसका एक डायलाग बाक्स आता है | बगल में दिए गए मीनू की सहायता से लीडिंग ओर ट्रेक जैसे तत्वों का भुत ही बारीकी से निधारित करते है |

आकृति भरना :- पेजमेकर प्रोग्राम के अंतगर्त बने हुए किसी भी प्रकार के आबब्जेक्ट में कोई रंग, स्क्रीन या फिर लेक्रिन को भरा जा सकता है | एसा करने के पहले आब्जेक्ट को सलेक्ट कर लेना होता है | इसमें दिए हुए किसी भी लेक्रिन को अपने कम के आवश्यकता के अनुसार भर सकते है |

Element >>Fill

आब्जेक्ट को आगे पीछे करना :- पेजमेकर के अंतगर्त एक से अधिक आलेख को एक दुसरे के आगे पीछे कर सकते है

Element >> Arrange

इसमें चार विकल्प होते है – ब्रिंग टू फ्रंट, ब्रिंग भारवड, सेंड बैकवाड, सेंड टू बैकवाड जेसे आदेशो पर क्लिक करके मूव किया जा सकता है | जैसे –

ओवर प्रिंट करना :- पेजमेकर में हम एक रंग को दुसरे रंग के उपर भी कर सकते है | एसा तब करते है जब किसी आब्जेक्ट काला रंग या कोई विशेष रंग भरा हो | ओभर प्रिंट करने के लिए जरूरी हो की जिस समय रंग चुने उसी समय ओवर प्रिंट आप्शन से निधारित भी करे |

Element >> Fill and Stroke (^U)

इस ड्राप – डाउन लिस्ट बाक्स से उचित रंग का चुनाव किया जाता है |

यदि चुने हुए रंग को शेष सभी रंग पर प्रभावी करना सो तो इस विकल्प को सेट करते है |

पोलिगन आर्किती में बदलाव :- पोलिगन टूल का प्रयोग करने से जब पोलिगन आकृति बन जाती है तो हम उसमे मन चाहे परिवतन करके तरह – तरह की आकृतिया बना सकते है |

Element >> Polygon Settings

फोटो फ्रेम का उपयोग :- पेजमेकर प्रोग्राम में फोटो का उपयोग करके इसके अंतगर्त फोटो का इस्तेमाल किया जा सकता है | इसमें पहले किसी भी फ्रेम टूल के दुरा उचित आकृति बना लेने के बाद फ़ाइल मेन्यु से प्लेस आदेश के दुरा फोटो प्लेस करके पर फोटो उस आकृति के अंदर आ जाता है |

इसके आलावा हम फोटो ग्राफ्स को फ्रेम के अनुसार छोटा भी कर सकते है | इस तरह के आप्शन को छोटा करने के लिए इलेमेंट मेन्यु के पॉप – ओंप से फ्रेम आप्शन कमांड पर क्लिक करते है |

इस भाग में सबसे पहले कंटेंट पोजीशन होता है, जिसमे होरिजोंटल तथा भटिकल एलिमेट नामक विकल्प होता है, जिसमे फोटो एलाइन करने के संदभ में करते है | इसके निचे तीन विकल्प होते है, जिसमे पहले विकल्प को सेट करने की आव्श्था में हमको फोटो का व्ही हिस्सा फ्रेम में दिखाई देगा जो सामने है | दुसरे विकल्प का प्रयोग करके फोटो को फ्रेम मुताबिक ढाल सकते है | तीसरे विकल्प का प्रयोग करने पर फोटो ग्राफ की चोड़ाई या आकर में परिवतन कर सकते है |

आकृति ग्रुप अनग्रुप करना :- पेजमेकर में बनाये गए एक से अधिक आकृति को ग्रुप कर सकते है, इसके लिए सभी आकृतियों को सलेक्ट कर लेने के बाद इलेमेंट से ग्रुप आदेश देते है | जिसमे सभी आकृति एक हेन्डील में नजर आयेगे तथा ग्रुप किये गए आकृति को सलेक्ट कर लेने के बाद अनग्रुप करने पर सभी आकृतिया अलग – अलग हेन्डील में नजर आयेगे |

आकृति लॉक करना :- पेजमेकर के अंदर बने किसी आकृति को लॉक किया जा सकता है | इसके लिए किसी आकृति को सलेक्ट कर लेने के बाद इलेमेंट के लॉक पोजिश आदेश देते है | जिसके बाद आकृति को घिस्काया नही जा सकता है | लॉक हटाने के लिए इसी मेन्यु से अनलॉक पोजीशन आदेश देते है |

प्रिंट न होने वाले आब्जेक्ट तय करना :- पेजमेंकिंग करते समय कभी – कभी एसी जरूरत पडती है की पेज के बिच में जिन आब्जेक्ट का प्रयोग किया जा रहा है वह प्रिंट न हो | एसा करने के लिए सबसे पहले उस आब्जेक्ट का चुनाव कर लिया जाता है, फिर एलिमेंट मेन्यु से नन प्रिंटिग आदेश देते है | जिनके बाद प्रिंट आदेश देने से उस आब्जेक्ट को प्रिंट नही किया जाएगा |

पेजमेकर में लेयर का प्रयोग करना :- पेजमेकर में लेयर का प्रयोग किया जा सकता है | इस सुविधा के तहत किसी पेज पर किये गए क्रियाओं को अलग – अलग लेयर में बाट सकते है | लेयर का अर्थ है, किसी पेज पर प्रयोग क्रियाओ की परत |

Window >> Show Layer

यह बटन पेज पर उपस्थित लेयर का सक्रिय स्थिति दिखता है, इस बटन पर क्लिक करके आख को हटा देने पर उस लेयर का आब्जेक्ट गायब हो जाता है |

यह चिन्ह आब्जेक्ट लेयर लॉक कर देता है, जिससे उस आब्जेक्ट पर कोई कार्य नही किया जा सकता है | इसपर क्लिक करके चिन्ह को हटा देने पर आब्जेक्ट पर कार्य किया जा सकता है |

इस बटन पर क्लिक करके नये लेयर को बना सकते है, इस बटन पर क्लिक करने के बाद कए डायलाग बाक्स आता है, जहा से निम्नलिखित विकल्प का प्रयोग करते है |

तुरंत सुरछित फ़ाइल को खोलना :- पेजमेकर के अंतगर्त तुरंत सेव किये गए फ़ाइल को खोल सकते है, इसके दुरा फ़ाइल मेन्यु से रीसेंट पब्लिकेशन आता है, जिसके तुरंत सेव किये गए सभी फाइलों की सूचि होती है, जिसके किसी भी एक फ़ाइल नेम पर क्लिक करके उसे खोला का सकता है |

प्रिंट स्टाइल निधारन करना :- पेजमेकर के अंतगर्त इसका प्रयोग करके जरूरत के अनुसार प्रिंटरो की स्टाइल निशिचित कर सकते है |

File >> Printer Style >> Define

इस डायलाग बाक्स से नेम पर क्लिक करके नये प्रिंटर का नाम देकर प्रिंटर को निशिचित कर सकते है

मेल भेजना :- पेजमेकर के अंतगर्त बनाए गए पब्लिकेशन को इन्टरनेट के जरिए कही भी भेजा जा सकता है |

डिस्प्ले नेम में यूजर नेम टाइप करने के बाद नेवस्ट करने के बाद इ- मेल टाइप करने के बाद भेज देते है |    

पिछले कार्य को दुहराना :- पेजमेकर प्रोग्राम के अन्दर कोई टेक्स्ट या आब्जेक्ट डिलीट हो जाने के बाद उसे एडिट मेन्यु के अन्डो आदेश के दुरा पिछले कार्य को दुहरा सकते है |

एक साथ चुनाव करना :- पेजमेकर के अंतगर्त किसी टेक्स्ट ब्लोक या आब्जेक्ट को एक साथ चुनाव करने के लिए एडिट मेन्यु से सलेक्ट ओंल आदेश देकर कर सकते है |

चुनाव रदद् करना :- सभी चुने गये टेक्स्ट ब्लोक या आब्जेक्ट को एडिट मेन्यु के डीस्लेक्ट ओंल आदेश देने पर सभी चुनावो को रदद् किया जा सकता है |

फ़ाइल से पेज को हटाना :- पेजमेकर के अंतगर्त बने एक से अधिक पेजों को अपनी आवश्यकता के अनुसार हटाया जा सकता है |

Layout >> Short Pages

इस डायलाग बाक्स से हम अपनी आवश्यकता पेजों को अपने फ़ाइल से हटा सकते है, इसके लिए इस डायलाग बाक्स में दिखाई दे रहे उचित पेज पर क्लिक करके ओके करने के बाद पेज को अपनी फ़ाइल से हटा सकते है |

पेज को आगे पीछे मूव करना :- पेजमेकर के अंदर पेज को आगे पीछे मूव कर सकते है, इसके लिए लेआउट मेन्यु से बैकवार्ड, फोरवार्ड आदेश पर क्लिक कर सकते है |

टाइप एलिज्न्मेंट :- पेजमेकर में टाइप किये गये पाठक को अप्लनी आवश्यकतानुसार सजा सकते है | इसके लिए टाइप मेन्यु के एलिज्न्मेंट के पॉप – ओप मेन्यु से निम्नलिखित आदेश लपर क्लिक कर सकते है | इस कार्य को करने से पहले पाठ्य को टेक्स्ट टूल दूरा सलेक्ट करना जरूरी होता है |

आब्जेक्ट एलिजन :- पेजमेकर के प्रोग्राम में किसी पेज पर बने एक से अधिक आब्जेक्टो को सजाया जा सकता है | इस प्रकार बने पेज पर आब्जेक्टो को एक सिद्ध में सजा सकते है |

Element >> Align objects (Sh^E)

इस डायलाग बाक्स में उपस्थित उचित चिन्हों वाले बटनों पर क्लिक करके पेज पर उपस्थित आब्जेक्टो को सजा सकते है | स्पेस के विकल्प में बटने वाले आब्जेकटो की बिच की दुरी निधारित किया जाता है |

करनर्र हुमाना :- रेक्टेंगल आकृति के करनर्र को घुमा सकते है | इसके लिए एलिमेंट मेन्यु में राउंडेड करनर्र पर क्लिक करके सामने आए डायलाग बाक्स से उचित विकल्प पर क्लिक करके रेक्टेंगल आकृति के करनर्र को घुमा सकते है |

बुलेट का प्रयोग करना :- पेजमेकर के अंतगर्त लिखे अपने पाठ्य के साथ बुलेट तथा नम्बर का प्रयोग किया जा सकता है |

बुलेट नंबरिंग का प्रयोग :- पेजमेकर के अंतगर्त लिखे अपने डाटा को हर पंक्ति के कर्म में विशेष चिन्ह या नंबरिंग का प्रयोग किया जा सकता है | इसके लिए सबसे पहले लिखे किसी डाटा के पंक्ति को टेक्स्ट टूल के दूरा सलेक्ट कर लिया जा सकता है |

Utilities >> Plug-ins >> Bullets and Numbering  

इस डायलाग बाक्स के दुरा उचित बुलेट का प्रयोग किया जा सकता है | अधिक बुलेट का प्रयोग करने के लिए एडिट रेडियो बटन पर क्लिक करके पा सकते है | इस तरह हम अपने डाटा में नंबर का भी प्रयोग कर सकते है, इसे पाने के लिए नंबस रेडियो बटन पर क्लिक करके पा सकते है | तथा ओके क्लिक करने के बाद वह चिन्ह या शब्द हमारे टेक्स्ट ब्लोक में जुड़ जाता है |

पाठ्य का केस बदलना :- इस आदेश के दुरा किसी वर्ड या टेक्स्ट को किसी दुसरे रूप यानी लोवर से अप्पर तथा अप्पर से लोवर केस में बदलने के लिए किया जाता है | सामने आए उचित विकल्पों पर क्लिक करके टेक्स्ट को के में बदला जा सकता है |

Utilities >> Plug-ins >> Change Case

ड्राप – कैप का प्रयोग :- किसी पत्रिका में छापे किसी खानी के शुरू में एक तेक्द्त जो बड़ा ओर किसी दुसरे टेक्स्ट से भिन्न होता है | इसे हम पेजमेकर के प्रोग्राम में आसानी से बना सकते है | इस क्रिया को करने से पहले किसी एक टेक्स्ट को सलेक्ट कर लेना जरूरी है |

Utilities >> Plug-ins >> Drop Cap

ग्रिंड में नजर :- इस आदेश के दुरा वतमान पेज पर हाशिया तथा कॉलम का प्रयोग किया जा सकता है |

केलाइन का प्रयोग :- इस आदेश ले दूरा पेजमेकर के अंतगर्त बने किसी भी आब्जेक्ट में परिवतन जैसे आकार, स्टाइल आदि में |

Utilities >> Plug-ins >> keyline

हेडर / फुटर का प्रयोग :- पेजमेकर के अंतगर्त हम किसी पेज पर हेडर / फुटर का प्रयोग कर सकते है जिस तरह पेज पर पेज सख्या अन्य टाइटल होता है |

Utilities >> Plug-ins >> Running Headers & Footers

इस डायलाग बाक्स में से सबसे पहले प्लेस कमांड पर क्लिक करते है, जिससे प्रीव्यू पेज पर एक टेक्स्ट ब्लोक दिखाई देगा | दाहिनी भाग में दिए हुए बटनों पर क्लिक करके टेक्स्ट ब्लोक को उचित स्थान पर देख सकते है तथा सभी सेटिंग के बाद ओके रेडियो बटन पर क्लिक करते है | कंटेंट के लिस्ट बाक्स से फर्स्ट पेज ओफ फर्स्ट पैराग्राफ आदि जैसे मनचाहे विकल्प का चुनाव भी कर सकते है |

वर्ड काउटर :- इसी पॉप – ओप मेन्यु के सबसे निचे वर्ड काउटर आदेश होता है जिसके दुरा फ़ाइल के अन्दर बने वर्ड कैरेक्टर , टेक्स्ट ब्लोक , सेंटेंस , स्टोरीज आदि को गणना करके दिखता है |  

 

   समाप्त

 

error: Content is protected !!
Scroll to Top