कंट्रोल पैलेट परिचय :- जैसा की नाम से ही स्पस्ट है, यह पैलेट किसी वस्तु को नियंत्रित करने अथार्त मनचाहे रूप और आकार में बदलने और सुधारने की सुविधा प्रदान करता है. यह दो प्रकार के होते है.

यह किसी टेक्स्ट के लिएकंट्रोल पैलेट होता है.   

यह की ऑब्जेक्ट या आकृति के लिए कंट्रोल पैलेट होता है.

Page Maker को मनमाफिक बनाना :- Page Maker में बहुत बड़ा कार्य करने से पहले हम उसे अपनी सुविधा के अनुसार कस्टमाइज भी कर सकते है. ऐसा करने से पेजमेकर हमारे साथ वैसा ही व्यवहार करेगा जैसा हम अपेछा करते है. इसके लिए File menu के Preference के पॉप-अप मेनू से General आदेश देते हैं.

File >> Preferences >> General ^K ↵

आदेश देने के बाद हमारा Dialog Box कुछ इस प्रकार खुलेगा.

Measurements in :- यहाँ से हम ऊपर के रूलर के लिए इकाई का चुनाव करते है. पेजमेकर इंच, डेसिमल, मिलीमीटर, पाइका, साइरस जैसी इकाईयो को सपोर्ट करता है. हम जिस पेज की लम्बाई – चौड़ाई जिस इकाई में मापना चाहे उसका चुनाव हम यहाँ से कर सकते है.

Vertical ruler :- यहाँ से हम पेजमेकर की मुख्य विंडो स्क्रीन पर दिखाई दे रहे बाएँ रूलर के इकाई को सेट करते है.

Layout problems :- इस विकल्प के तहत यह सेट करना है की क्या पेजमेकर हमको टाईट ओर लूज लाइनों को दर्शाए? और यदि पेजमेकर के अंतर्गत लिखा हुआ टेक्स्ट किसी तरह अपनी सीमा रेखा उलंघन करता है तो वह भी हमको नजर आए, यदि इस तरह की चेतावनियाँ सामने चाहते है तो इसमें दिए हुए “Show loose/tight lines” और “Show keeps violations” आप्शनो में से जिसे चाहे उसे सक्रिय कर सकते है.

Graphics display :- इस भाग में तीन विकल्प होते है, जिनके द्वारा ग्राफिक फ़ाइल के अलावा डिस्प्ले को तय करते है.

Gray out :- इस विकल्प को चुनने पर इमेज फ़ाइल एक चौकोर बॉक्स के रूप में दिखाई देता है और फाइल का वजन हल्का हो जाता है और फाइल तेजी से खुलती और बंद होती है. 

Standard :-  इस विकल्प को चुनने पर इमेज फ़ाइल का सामान्य रूप दिखाई देगा जो हो सकता है बहुत धुंधला हो और फोटो स्पष्ट रूप से दिखाई न दे. लेकिन इससे फाइल का वजन हल्का रहता है.

High resolution :- इस विकल्प को सेट करने से इमेज की सघनता बढ़ जाती है और इमेज स्पस्ट दिखाई देने लगता है जिसके वजह से फाइल का साइज़ बढ़ जाता है जिससे फ़ाइल देर से खुलेगी और डिस्प्ले स्क्रीन पर देर से नजर आएगा.

Control palette :- इसमें दो विकल्प होते है Horizontal nudge और Vertical nudge इसमें किसी भी ऑब्जेक्ट के साथ सबसे पहले इसमें यह तय करना होता है की टेक्स्ट के निचे कितने जगह खाली रहे और फिर दूसरी पंक्ति प्रारभ हो ट्रू टाईप फोंट डिस्प्ले करने के लिए हम यहाँ से “Preserve Line Spacing” और “Preserve Character Shape” जैसे विकल्प को सक्रिय ओर निष्क्रिय कर सकते है. “Story Editor” इस भाग में हम डिफ़ॉल्ट फोंट और उसका साइज़ तय कर सकते है. यदि हम चाहते है की टाइपिंग के समय हमेशा डिफ़ॉल्ट सेटिंग के अनुरूप Times New Roman फोंट को तय कर सकते हैं तथा इससे संबंधित साइज़ आदि भी सेट कर सकते है.

Graphics :- इस भाग में हम ग्राफिस्क को स्क्रिन पर देखने के लिए करते है. और कुछ विकल्प सेट किये जाते है, साईज में ग्राफिक के लिए डिस्प्ले साईज किलो बाईट में सेट किया जाता है. रिजोल्यूशन भाग में ग्राफिक के लिए सघनता सेट किया जाता है. “Alert When Graphics Over” इस भाग में 256 के0बी0 लिखा रहता है. इस प्रकार यदि जिस मात्रा में फ़ाइल Import करके लानी हो तो उसकी मात्रा यहाँ डाल सकते है.

File >> Preferences >> Online↵

 इसका प्रयोग हम इंटरनेट के सन्दर्भ में प्राथमिकताओं को सेट करने के लिए कर सकते है. Hyperlink लिंक से सम्बंधित विकल्प सेट रहता है Proxy Window में Server की जानकारी टाईप करते है. इंटरनेट पर जाने के लिए जिस Web Browser को प्रयोग करना है उसका नाम यहाँ टाईप करते है.

 File >> Preferences >> Layout Adjustment↵

“Snap to zone” में कोई आर्ब्जेक्ट गाइड लाइड के कितनी दुरी से चिकना प्रारंभ करे हम यहाँ से सेट कर सकते है. इसमें पेज एलिमेंट करने से संबंधित विकल्प है जिसे माउस से सेट कर सकते है तथा Layer Ruler को Adjust Guide Line को Move को भी लॉक kar सकते है. तथा इसके निचे करने के लिए दो विकल्प होते है जिनके द्वारा किया जा सकता है. दुसरे भाग में कॉलम तथा माजिर्न एलिमेनट को बचा सकते है.

 File >> Preferences >> Trapping↵ 

इस डायलॉग बाक्स में सबसे पहले Enable Trapping for Publication नामक विकल्प को सक्रिय करते है इसमें Trap की Width निर्धारित कर सकते है. काले रंग को Over Print Black विकल्प को सेट करते है. Ink Setup नामक विकल्प में प्रिंट के लिए स्याही निर्धारित करने के लिए किया जाता है.

 

error: Content is protected !!
Scroll to Top