O Level

O Level . भारत सरकार द्वारा संचालित राष्ट्रीय इलेक्ट्रॉनिक एवं सूचना प्रौद्योगिकी संस्थान “NIELIT” जिसका पुराना Doeacc सोसाइटी “Department of Electronics and Accreditation of Computer Classes” है. जिसके द्वारा कंप्यूटर का एक ऐसा सर्टिफ़िकेट प्रदान किया जाता है जिसका इस्तेमाल किसी भी तरह के सरकारी नौकरी चाहे वह राज्य सरकार की हो या भारत सरकार की हो उसमे कंप्यूटर ऑपरेटर की बहाली में इस सर्टिफ़िकेट का इस्तेमाल करना अनिवार्य है, यानी इस सर्टिफ़िकेट के बिना कंप्यूटर ऑपरेटर पर आधारित कोई भी सरकारी नौकरी प्राप्त नहीं किया जा सकता है. इस कोर्स की तैयारी BIIT कंप्यूटर इंस्टिट्यूट तरफ से तैयारी कराई जाती है. इसका एग्जाम भारत सरकार के NIELIT डिपार्टमेंट के द्वारा लिया जाता है. इस कोर्स के अंतर्गत बेसिक कंप्यूटर की जानकारी प्रदान की जाती है जैसे कंप्यूटर फंडामेंटल, ऑपरेटिंग सिस्टम के अंतर्गत माइक्रोसॉफ्ट विंड़ोज़, डॉस, उबन्तु, लिब्रे ऑफ़िस, माइक्रोसॉफ्ट ऑफ़िस, बेसिक फ़ाइनेंशियल सर्विस, मल्टीमीडिया, वेब डिजाईन, C प्रोग्रामिंग की तैयारी कराई जाती हैओ लेवल कंप्यूटर कोर्स में एडमिशन वर्ष में दो बार लिया जाता है, जिसका आयोजन जुलाई तथा जनवरी में किया जाता है। कोई भी शिक्षार्थी जो 10+2 की योग्यता रखता है या फिर I.T.I. (इंडस्ट्रियल ट्रेनिंग इंस्टिट्यूट) का सर्टिफिकेट रखता हो इस कोर्स में प्रवेश ले सकता है। इस कोर्स को करने के बाद अभ्यर्थी A लेवल कोर्स करने के लिए पत्र हो जाता है.

ओ लेवल सर्टिफिकेट कोर्स की मान्यता किसी विश्वविद्यालय द्वारा कराये गए Computer Science, MCA, PGDCA, M.Tech, B.Tech, ADCA डिप्लोमा के बराबर ही होती है. इस सर्टिफिकेट की मान्यता अन्तर्राष्ट्रीय स्तर की होती है ओ लेवल कोर्स का पाठ्यक्रम 01 वर्ष का होता है. जिसकी पढ़ाई प्रक्रिया सेमेस्टर सिस्टम के तरह ही होती है. O Level कोर्स में इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी के फाउंडेशन सिलेबस की भी जानकारी दी जाती है.

error: Content is protected !!
Scroll to Top