What is Linux Operating Systems

लिनक्स ऑपरेटिंग सिस्टम क्या है

Linux एक Dos, Windows, Linux की तरह यह भी एक ऑपरेटिंग सिस्टम प्रोग्राम होता है इसे ओपन सोर्स ऑपरेटिंग सिस्टम प्रोग्राम कहा जाता है ओपन सोर्स का अर्थ होता है कि कोई भी प्रयोगकर्ता है फ्री डाउनलोड कर सकता है और उसे लाइसेंस भी फ्री मिल जाता है.

Tally को हिंदी के आसान भाषा में पढ़ें

इसके लिए कोई चार्जेस देने की आवश्यकता नहीं होती है लेकिन आखिर इससे लोग पसंद क्यों करते हैं अब धीरे-धीरे इसे पसंद करने वाले यूजर्स की संख्या बढ़ रही है क्योंकि इसका कारण यह है कि अभी कोई प्रयोग करता अगर इसे कंप्यूटर में स्थापित करता है तो उसे एंटीवायरस की जरूरत नहीं पड़ेगी दूसरा किसी भी हार्डवेयर के लिए किसी स्पेशल ड्राइवर को स्थापित करने की भी जरूरत नहीं पड़ेगी तीसरा फायदा यह है कि अगर हम कोई नेटवर्क बनाना चाहते हैं तो हमें मालूम होना चाहिए कि नेटवर्क में क्लाइंट के लिए अलग ऑपरेटिंग सिस्टम इंस्टॉल करने की आवश्यकता पड़ती है और सर्वर के लिए अलग ऑपरेटिंग सिस्टम इंस्टॉल करने की आवश्यकता पड़ती है अगर हम लाइनेक्स ऑपरेटिंग सिस्टम के किसी भी वर्जन को ले लेते हैं तो हमें कोई लोकल नेटवर्क बनाने के बाद सिर्फ लाइनेक्स के किसी एक वर्जन को सर्वे में भी इंस्टॉल कर सकते हैं और उसे क्लाइंट पर भी इंस्टॉल कर सकते हैं और डाटा शेयरिंग का कार्य बड़ी ही आसानी से कर सकते हैं और हम विंडोज सरवर और क्लाइंट ऑपरेटिंग सिस्टम के लिए पैसे खर्च करने से बच सकते हैं लाइनेक्स के अब तक बहुत सारे संस्करण बाजार में आ चुके हैं जैसे:- Debian, Gentoo, Ubuntu, Linux Mint, Red Hat Enterprise Linux, CentOS, Fedora, Kali Linux, Arch Linux, OpenSUSE आदि. 

लाइनेक्स ऑपरेटिंग सिस्टम में चलने वाला एक बहुत ही लोकप्रिय प्रोग्राम है जिसका नाम लिब्रे ऑफिस है यह बिल्कुल उसी प्रकार कार्य करता है जिस प्रकार Microsoft कंपनी के द्वारा बना हुआ Ms Office होता है. लिब्रे ऑफिस में कार्य किए जा सकते हैं जो ऑफिस में होते हैं जैसे एक्सएल के सभी कार्य वर्ल्ड के सभी कार्य पावर पॉइंट के सभी कार्य लिब्रे ऑफिस में आसानी से किए जा सकते हैं और इसे भी हम ओपन सोर्स प्रोग्राम के नाम से जानते हैं.

error: Content is protected !!
Scroll to Top